Madhya pradesh ke pramukh puraskar evam samman | Madhya pradesh awards gk in hindi

Major Awards and Honors of Madhya Pradesh | मध्‍यप्रदेश के प्रमुख पुरस्‍कार एवं सम्‍मान

नमस्‍ते दोस्‍तों आज हम आपको करंट अफेयर्स व सामान्‍य ज्ञान जीके के इस पेज के माध्‍यम से मध्‍यप्रदेश के प्रमुख पुरस्‍कार एवं सम्‍मान के बारे में बतायेंगे। यह पुरस्‍कार किस क्षेत्र में दिये जाते है व इस पुरस्‍कार की धनराशि कितनी होती है ये सब हम आपको इस पोस्‍ट के माध्‍यम से बतायेंगे। आप सभी निचे दी गई पोस्‍ट को पुरा जरूर पढ़े और मध्‍य प्रदेश सामान्‍य ज्ञान से संबधित जीके के बारे में और भी जानना है तो हमें कमेंट करके जरूर बतायें व अपने दोस्‍तो व रिश्‍तेदारों को शेयर जरूर करें।

मध्‍यप्रदेश के प्रमुख पुरस्‍कार एवं सम्‍मान

कालीदास सम्‍मान: 1980 में स्‍‍थापित यह मध्‍य प्रदेश का सबसे महत्‍वपूर्ण सम्‍मान है। प्रत्‍येक की राशि 2 लाख रूपये है।
तानसेन सम्‍मान: संगीत क्षेत्र की मान्‍यता प्राप्‍त हस्‍ती को 1980 में स्‍थापित, इसकी पुरस्‍कार की धनराशि 2 लाख रूपये है।
तुलसी सम्‍मान: 1983 में स्‍थापित यह पुरस्‍कार आदिवासी लोक एवं पारम्‍परिक कला में श्रेष्‍ठ उपलब्धि के लिये प्रतिवर्ष दिया जाता है इसकी धनराशि 2 लाख रूपये है।
देवी अहिल्‍या सम्‍मान: प्रतिवर्ष किसी महिला कलाकार को दिया जाता है इसकी धनराशि 2 लाख रूपये है।    
किशोर सम्‍मान: धनराशि 2 लाख रूपये।
कबीर सम्‍मान: भारतीय भाषा की कविता के लिये प्रतिवर्ष दिया जाता है इसकी धनराशि 3 लाख रूपये है।
इंकलाब सम्‍मान: पुरस्‍कार में 2 लाख रूपये दिये जाते है।               
मैथिलीशरण गुप्‍त सम्‍मान:  1 लाख रूपये नगद तथा साथ में प्रशस्ति पत्र।
लता मंगेशकर सम्‍मान: सुगमसंगीत के क्षेत्र में भारत का सबसे बड़ा पुरस्‍कार 1984 में स्‍थापित इसकी पुरस्‍कार धनराशि 5 लाख रूपये है।
महात्‍मा गांधी पुरस्‍कार: गांधी दर्शन के अनुरूप सामाजिक कार्य करने हेतु दिया जाता है इसकी धनराशि 10 लाख रूपये है।    
अखिल भारतीय पुरस्‍कार: मध्‍यप्रदेश साहित्‍य परिषद द्वारा ये पुरस्‍कार दिये जाते है। सभी 11 हजार रूपये की राशि वाले है।
कुमार गंधर्व पुरस्‍कार: इसे शास्‍त्रीय संगीत के क्षेत्र में दिया जाता है इसकी धनराशि 1.25 लाख रूपये है।
शिखर सम्‍मान: मध्‍यप्रदेश सरकार के संस्‍कृति विभाग द्वारा वर्ष 1980 से प्रदत्‍त, पुरस्‍कार में 62 हजार रूपये की नगद धनराशि प्रदान की जाती है।

पत्रकारिता क्षेत्र के पुरस्‍कार

माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता पुरस्‍कार: 

किसी कार्यरत सम्‍पादक को श्रेष्‍ठ सम्‍पादन हेतु दिया जाने वाला इस पुरस्‍कार में 5 हजार रूपये की नगद धनराशि तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।

राजेन्‍द्र माथुर फैलोशिप: 

शासन ने प्रसिद्ध संपादक राजेन्‍द्र माथुर की  स्‍मृति में 1 लाख रूपये की फैलोशिप स्‍थापिता की। यह लोक हित से जुड़े गंभीर और महत्‍वपूर्ण विषयों पर शोध को प्रोत्‍साहित करने के लिए दी जाती है।

तरूण कुमार भादुड़ी पुरस्‍कार: 

प्रसिद्ध पत्रकार और लेखक स्‍व. तरूण कुमार भादुड़ी की स्‍मृति में मध्‍यप्रदेश शासन द्वारा प्रतिवर्ष 35 वर्ष की आयु तक के दो युवा पत्रकारों को यह पुरस्‍कार दिया जाता है।

जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी पुरस्‍कार: 

राज्‍य के युवा पत्रकार को श्रेष्‍ठ आलेखन हेतु 5 हजार रूपये का यह पुरस्‍कार दिया जाता है।

रामेश्‍वर गुरू पुरस्‍कार: 

राज्‍य की किसी पत्रिका के स्‍तरीय प्रकाशन या संपादन हेतु 5 हजार रूपये का यह पुरस्‍कार दिया जाता है।

मध्‍यप्रदेश शासन द्वारा दी जाने वाली फैलोशिप: 

संस्‍कृति विभाग द्वारा प्रदत्‍त निम्‍नलिखित पांच शिक्षावृत्तियों में एक वर्ष के लिए एक हजार रूपये प्रतिमाह, पर्यावरण नियोजनय एवं संगठन द्वारा प्रतिवर्ष युवा वैज्ञानिको को इंदिरा गांधी फैलोशिप दी जाती है, जिसमें दो वर्ष के लिए 4500 रूपये प्रतिमाह और 30,000 रूपये आकस्मिक मानदेय।

1. राजेन्‍द्र माथुर स्‍मृति शिक्षावृत्ति – पत्रकारिता के क्षेत्र में।

2. मुक्तिबोध शिक्षावृत्ति – साहित्‍य के क्षेत्र में।

3. अमृता शेरगिल शिक्षावृत्ति – चित्र और मूर्तिकला के क्षेत्र में।

4. उस्‍ताद अलाउददीन खां संगीत शिक्षावृत्ति – संगीत के क्षेत्र में।

5. चक्रधर शिक्षावृत्ति – शास्‍त्रीय नृत्‍य के क्षेत्र में।

6. इंदिरा गांधी फैलोशिप – पर्यावरणीय शोध हेतु।

अन्‍य पुरस्‍कार

जननायक टांटया भील पुरस्‍कार: 

1 लाख रूपये का यह पुरस्‍कार सर्वश्रेष्‍ठ आदिवासी खिलाड़ी को दिया जाता है।

रानी दुर्गावती राष्‍ट्रीय सम्‍मान 2008: 

यह पुरस्‍कार महिला रचनात्‍मकता एवं उनके प्रशासकीय नेतृत्‍व को प्रोत्‍साहन देने हेतु दिया जाता है। इस पुरस्‍कार के अंतर्गत 2 लाख रूपये दिये जाते है।

शंकरशाह एवं रघुनाथ शाह पुरस्‍कार: 

आदिवासी कला सृजन के लिये दिया जाता है इस पुरस्‍कार के अंतर्गत 2 लाख रूपये दिये जाते है।

ठक्‍कर बापा पुरस्‍कार: 

यह पुरस्‍कार आदिवासी समाज में सेवाओं के लिये 2 लाख रूपये दिया जाता है।

शरद जोशी पुरस्‍कार: 

यह पुरस्‍कार 1992-93 से ललित निबंध, डायरी, पत्रलेखन, व्‍यंग्‍य लेखन हेतु उत्‍कृष्‍ट कार्य के लिये दिया जाता है। पुरस्‍कार राशि 51 हजार रूपये से बढ़ाकर 1 लाख रूपये।

चन्‍द्रशेखर आजाद पुरस्‍कार: 

इस पुरस्‍कार के अंतर्गत 1.50 लाख रूपये एवं प्रशस्ति पटिटका दी जाती है।     

वीरांगना पुरस्‍कार: 

यह पुरस्‍कार महारानी लक्ष्‍मीबाई के पुण्‍यतिथि पर दिया जाता है।

************

उम्‍मीद है कि आपको यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी होगी। अगर दोस्‍तो आपको यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी हो तो आप मुझे Comment करके जरूर बताएं। हम ऐसी ही पोस्‍ट अगली बार आपके लिये फिर लेके आयेगें एक नये अंदाज में और एक नये madhya pradesh samanya gyan  के साथ।

दोस्‍तो अगर यह पोस्‍ट आप लोगो ने पढ़ी और आप लोगो को यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी तो कृपया ये पोस्‍ट आपके दोस्‍तो व रिश्‍तेदारों को जरूर Share करें। और आप मेरी ये पोस्‍ट Facebook, Instagram, Telegram व अन्‍य Social Media पर Share करें, धन्‍यवाद! में आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करता हुं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *