क्‍यों होता है फलों की सब्जियों का रंग अलग, क्‍या कारण है? | Why do fruits and vegetables have different colors, what is the reason?

हेल्‍लो दोस्‍तो आज हम आपको इस पोस्‍ट के माध्‍यम से बतायेगें की फलों के रंग का कारण क्‍या होता है। क्‍या होता है फलो के रंग का साइंटिफिक कारण यही बात हम आपको इस पोस्‍ट के माध्‍यम से बतायेगें। तो आईये हम आप को कुछ फलो के बारे में बताते है कि क्‍यों उनके रंग अलग होते है क्‍या कारण है व उन फलो के रंग का साइंटिफिक कारण भी बतायेगें।

टमाटर में लाल रंग – लाइकोपिन

टमाटर के फल का लाल रंग मुख्‍य रूप से लाइकोपीन नामक कैरोटीनॉयड के कारण होता है। अन्‍य कैरोटिनॉइड के समान यह एक सहायक वर्णक है जो स्‍वयं प्रत्‍यक्ष रूप से तो प्रकाश संश्‍लेषण में भाग नही लेता लेकिन सहायक वर्णक के रूप में प्रकाश ऊर्जा का अवशोषण कर उसे क्‍लोरोफिल A को स्‍थानान्‍तरित कर देता है।

पपीता में पीला रंग – केरिक्‍जेन्थिन

फलो के गूदे के क्रोमोप्‍लास्‍ट में उपस्थित कैरीटीन और जैं‍थोफिल पिगमेंट अर्थात केरिक्‍जेन्थिन की उपस्थिति के कारण पपीता पीले होते है। पौधों में विभिन्‍न उत्‍तकों का रंग कोशिकाओं में उपस्थित प्‍लास्टिडस के कारण होता है।

प्‍याज में लाल रंग – एन्‍थोसाइनिन

प्‍याज का रंग एन्‍थोसाइनिन और एंथोक्‍सैन्थिन की उपस्थिति के कारण होता है जो फ्लेनोनोइडस के वर्ग से संबधित है। एन्‍थोसाइनिन नारंगी, पीला या बैंगनी रंग प्रदान करते है जबकि एंथोक्‍सैन्थिन पीला या सफेद रंग प्रदान करते है। ये पिगमेंट सेल सैप में मौजूद होते है और पानी में घुलनशील होते है।

गाजर में नारंगी रंग – कैरोटीन

गाजर का नारंगी रंग बीटा कैरोटीन की उपस्थिति के कारण होता है। कैरोटीन प्रकाश संश्‍लेषक वर्णक होते है जो पराबैंगनी, बैंगनी और नीले प्रकाश और बिखरे हुए नारंगी या लाल प्रकाश को अवशोषित करते है इसलिये गाजर रंग में नारंगी होते है।

मिर्च में लाल रंग – कैप्‍सेन्थिन

कैप्‍सेन्थिन की उपस्थिति के कारण मिर्च का रंग लाल होता है। यह जैंथोफिल वर्ग का वसा में घुलनशील लाल वर्णक होता है। यह कैरोटीनोजेनेसिस के दौरान संश्‍लेषित होता है और संतृृृप्‍त वसायुक्‍त अम्‍ल की श्रृंखला के साथ एस्‍टरीकरण करके लाइपो-घुलनशीलता को बढाता है।

***************

उम्‍मीद है कि आपको यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी होगी। अगर दोस्‍तो आपको यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी हो तो आप मुझे Comment करके जरूर बताएं। हम ऐसी ही पोस्‍ट अगली बार आपके लिये फिर लेके आयेगें एक नये अंदाज में और एक नये स्‍पेशल जीके हिंदी के साथ।

दोस्‍तो अगर यह पोस्‍ट आप लोगो ने पढ़ी और आप लोगो को यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी तो कृपया ये पोस्‍ट आपके दोस्‍तो व रिश्‍तेदारों को जरूर Share करें। और आप मेरी ये पोस्‍ट Facebook, Instagram, Telegram व अन्‍य Social Media पर Share करें, धन्‍यवाद! में आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करता हुं।

Leave a Comment