Civil Engineer कैसे बनें? योग्‍यता, कोर्स, एडमिशन, सरकारी नौकरी, प्रइवेट नौकरी, सैलरी |How to become a Civil Engineer in Hindi?

Civil Engineering क्‍या होता है?

दोस्‍तो सिविल इंजीनियरिंग एक प्रोफेशनल कोर्स होता है जो आज के समय मेंं पुरी दुनिया में सबसे ज्‍यादा फैमस है। सिविल इंजीनियर बनने के लिये आपको काफी पढ़ाई करनी होती है, बहुत मेहनत और लगन के साथ पढ़ना होता है तभी कोई छात्र एक सफल सिविल इंजीनियर बन सकता है।

Civil Engineering के लिये योग्‍यता क्‍या चाहिए?

सिविल इंजीनियर बनने के लिये सबसे जरूरी होती है उसकी पढ़ाई जो काफी कठिन होती है। इसलिये अगर आप भी सिविल इंजीनियर बनना चाहते है तो सबसे पहले आपके मन में सवाल होता है कि सिविल इंजीनियर बनने के लिये योग्‍यता होती है। अगर योग्‍यता की बात करे तो इस पर यह निर्भर करता है कि आप डिप्‍लोमा कर के जूनियर सिविल इंजीनियर बनना चाहते है या फिर डिग्री कोर्स कर के सिनियर सिविल इंजीनियर बनना चाहते है।

आपको बता दे कि अगर आप इसमें डिप्‍लोमा का कोर्स करना चाहते है तो आप 10वीं पास कर के ही डिप्‍लोमा के लिये एडमिशन मिल सकता है, लेकिन सिनियर सिविल इंजीनियर बनना चाहते है तो इसके लिये आपको 12वीं पास होना जरूरी है। उसमें भी आपका सब्‍जेक्‍ट Physics, Chemistry & Mathematics होना जरूरी है।

Civil Engineer बनने के लिये कौन-सा कोर्स करें?

इंजीनियर कई तरह के होेते है। इसलिये सिविल इंजीनियर मेंं एडमिशन लेते वक्‍त कौन-सा कोर्स सिलेक्‍ट कर रहे है इस बात का विशेष ध्‍यान रखें। इसमेंं कई तरह के कोर्सेस होते है जिसमें आप एडमिशन ले सकते है जैसे:-

  • Hydraulic Engineering
  • Material Engineering
  • Structural Engineering
  • Earthquake Engineering
  • Urban Engineering
  • Environmental Engineering
  • Transportation Engineering
  • Geo Technical Engineering
  • Coastal Engineering
  • Construction Engineering
  • Forensic Engineering
  • Outdoor Plant Engineering

Civil Engineer बनने के लिये कॉलेज में एडमिशन कैसे मिलेेगा?

दोस्‍तो अक्‍सर छात्र ये तो तय कर लेते है कि उनको इंजीनियर बनना है लेकिन उन्‍हे यह नही पता होता है कि कैसे बनें, इसकी पढ़ाई कैसे करें, किस कॉलेज में एडमिशन लेना सही होगा, इसमें एडमिशन कैसे मिलेगा। क्‍योंकि सबसे ज्‍यादा समस्‍या एडमिशन लेने मे ही होती है।

दोस्‍तो अगर आप इंजीनियर की बनना चाहते है तो आपको 12वीं में खुब मेहनत करनी होगी, क्‍यांकि 12वीं में आये अंको पर ही निर्भर होता है कि आप अच्‍छे कॉलेज में एडमिशन ले पायेगें या नही। इंजीनियर मे एडमिशन लेने के लिये हर साल IIT, JEE, AIEEE की परिक्षा होती है। यह एक एंट्रेंस एग्जाम होती है अगर आप इस परिक्षा को पास कर लेते है और अगर आपका रैंक अच्‍छा होता है तो आपको आसानी से किसी भी बडे इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है।

Civil Engineer कितने तरह के होते है?

दोस्‍तो सिविल इंजीनियरिंग में देखा जाये तो काम एक ही होता है Construction का काम फिर चाहे वो बिल्डिंग कंस्‍ट्रक्‍शन का काम हो, ब्रिज का निर्माण करना हो या फिर किसी हाउसिंग सोसयटी का निर्माण करना हो कुल मिला कर काम Construction से जुडा हुआ ही होता है। इसलिये इसमें दो तरह के इंजीनियर होते है – 1) Junior Civil Engineer, 2) Senior Civil Engineer

Civil Engineer में क्‍या स्‍कोप है?

जैसा कि आपको पता है कि पुरी दुनिया तेजी से विकास कर रही है, हमारा देश हो या दुनिया का कोई भी देश हर जगह तेजी से शहर फैल रहे है, नये शहर बसाये जा रहे है। जैसे-जैसे आबादी बढ़ रही है लोगो की आबादी बढती जा रही है, वैसे शहर का दयरा बढता जा रहा है, नये-नये निर्माण हो रहे है। अभी तक आपने दुनिया की सबसे उंची बिल्डिंग का नाम सुना होगा लेकिन अब उससे भी बडी बिल्डिंग का निर्माण हो रहा है।

जब तक इस धरती पर इंसान है निर्माण हाेता रहेगा। तो आपके लिये नौकरी के अवसर हमेशा खुले रहेगें। यानी की एक सिविल इंजीनियर को अपने भविष्‍य को लेकर चिंता करने की जरूरत नही है। क्‍योंकि हर नये शहर नयी बिल्डिंग और नये निर्माण के साथ इंजीनियरों के लिये नौकरी के अवसर पैदा होते रहेगें।

Civil Engineer के काम क्‍या होते है?

सिविल इंजीनियरों के कई काम होेते है जैसे बिल्डिंग का निर्माण करवाना, ब्रिज का निर्माण, एयरपोर्ट के निर्माण की रूपरेखा तैयार करना, इनकी डिजाईन तैयार करना और अपनी देखरेख में इसका निर्माण करवाना।

इसे आप एक उदाहरण के तौर पर समझ सकते है जैसे आपको किसी ने घर बनाने का कोन्‍ट्रेक्‍ट दिया तो आपको जमीन के एरिया के हिसाब से घर की डिजाईन तैयार करनी होगी। उसमें आपको वो तमाम सुविधायें देनी होगी जो एक घर मे होती है। इसमें सरिया कौन सा लगेगा, सीमेंट कोैन सी लगेगी, मतलब घर को कैसे मजबुत और तमाम सुविधाओं वाला बनाया जाये। तो आप समझ सकते है कि एक सिविल इंजीनियर का काम कितना महत्‍वपूर्ण होता है।

Civil Engineer करने के बाद क्‍या सरकारी नौकरी लग सकती है?

दोस्‍तो सिविल इंजीनियर के क्षेत्र मेंं प्रोफेशनल की मांग आज के समय में तेजी से बढ रही है। इसमें सरकारी क्षेत्र में भी मांग तेजी से बढ रही है। एक सिवलि इंजीनियरिंग केन्‍द्र या फिर राज्‍य सरकार के Construction से संबधित विभागों, संगठनो में नौकरी मिल सकती है। इतना ही नही सरकारी शिक्षण संस्‍थानों में भी आपको एक फैकल्‍टी के रूप में नौकरी मिल सकती है।

Civil Engineer करने के बाद प्राइवेट सेक्‍टर में नौकरी कैसे मिलेगी?

एक सिविल इंजीनियर के लिये सबसे ज्‍यादा स्‍कोप प्राइवेट सेक्‍टर में ही है। क्‍योंकि आज के समय में कई ऐसी कंपनिया है जो Construction का काम करवाती है चाहे बडे-बडे पुल, बडे हाउसिंग सोसाइटी ज्‍यादातर प्राइवेट सेक्‍टर की कंपनिया ही करवा रही है। शहरों मेंं जो आप बडी-बडी बिल्डिंग देखते है उसे भी ज्‍यादातर प्राइवेट कंपनिया ही करवाती है। इसलिये प्राइवेट सेक्‍टर में इसकी संभावनाएं जितनी आज है आने वाले समय में सिविल इंजीनियर की मांग और भी ज्‍यादा बढने वाली है।

Civil Engineer की सैलरी कितनी होती है?

जैसे कि आपको पता है कि इसमें सरकारी और प्राइवेट सेक्‍टर की नौकरी की अपार संभावनाएं है। लेकिन आप चाहे किसी भी फिल्‍ड में नौकरी करते है सबसे पहला सवाल यही होता है कि इसमें सैलरी कितनी है।

अगर प्राइवेट सेक्‍टर की बात करें तो आपकी सैलरी इस बात पर निर्भर करती है कि आपने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्‍लोमा का कोर्स किया है या फिर डिग्री का कोर्स किया है। क्‍योंकि डिप्‍लोमा करने वाला जूनियर इंजीनियर होता है और डिग्री करने वाला सिनियर इंजीनियर। ऐसे में अगर जूनियर इंजीनियर की बात करें तो प्राइवेट सेक्‍टर में इनकी शुरूआती सैलरी 20,000 से 30,000 हजार के करीब होती है। जबकि सिनियर इंजीनियर की सैलरी 50,000 हजार तक हो सकती है। हालांकि जैसे-जैसे आपका अनुभव बढता जायेगा आपकी सैलरी भी बढती जायेगी।

वहीं अगर सरकारी नौकरी में सैलरी की बात करें तो कई जूनियर इंजीनियर की सैलरी 40,000 हजार से शुरू होती है जबकि सिनियर इंजीनियर की सैलरी 60,000 हजार से ज्‍यादा से शुरू होती है। इसमें भी आपके अनुभव के आधार पर आपकी सैलरी बढ सकती है।

***************

उम्‍मीद है कि आपको यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी होगी। अगर दोस्‍तो आपको यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी हो तो आप मुझे Comment करके जरूर बताएं। हम ऐसी ही पोस्‍ट अगली बार आपके लिये फिर लेके आयेगें एक नये अंदाज में और एक नये स्‍पेशल जीके हिंदी के साथ।

दोस्‍तो अगर यह पोस्‍ट आप लोगो ने पढ़ी और आप लोगो को यह पोस्‍ट अच्‍छी लगी तो कृपया ये पोस्‍ट आपके दोस्‍तो व रिश्‍तेदारों को जरूर Share करें। और आप मेरी ये पोस्‍ट Facebook, Instagram, Telegram व अन्‍य Social Media पर Share करें, धन्‍यवाद! में आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करता हुं।

Leave a Comment